तो क्या ममता बनर्जी हिन्दू नहीं, मुस्लिम है ?

west-bengal-chief-minister-mamata-banerjee-dolphin-post

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस की अध्‍यक्ष ममता बनर्जी एक बार फिर सुर्खियों में हैं। व्हाट्सएप पर ममता बनर्जी से जुड़ा मैसेज वायरल हो रहा है।
सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है कि ममता बनर्जी हिंदू नहीं मुसलमान हैं। ममता बनर्जी नमाज़ पढ़ती हैं। ममता को मुस्लिम बताते हुए सोशल मीडिया पर फोटो भी प्रसारित किया जा रहा है। सोशल मीडिया पर वायरल मैसेज में लिखा है, क्या ममता बनर्जी का नाम मुमताज मासाना खातून है? क्या ममता बनर्जी हिंदुओं के खिलाफ साजिश रचती हैं। क्या उन्होंने जानबूझकर रेल मंत्री रहते हुए हिंदू तीर्थस्थान जाने वाली ट्रेनों को बंद कराने की कोशिश की है।

ममता बनर्जी को लेकर ये मैसेज तेजी से सोशल मीडिया में हर ग्रुप, हर शख्‍स के पास पहुंचता जा रहा है। इसमें उनके मुसलमान होने और उनके असली नाम मुमताज मासामा खातून के अलावा ये भी सवाल किया जा रहा है कि क्या उन्होंने जानबूझकर रेल मंत्री पद पर रहते हुए हिन्दू तीर्थ स्थानों पर जाने वाली ट्रेनों को बंद कराने की कोशिश की थी।

ममता बनर्जी को लेकर वायरल हो रहे मैसेज में ये बताया गया है कि उन्‍हें जितनी अच्‍छी बांग्‍ला आती है उतनी अच्‍छी ही उर्दू भी वो बोल लेती हैं। पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी के राज में हिंदुओं के कथित अत्‍याचार का भी आरोप लगाया गया है। ममता बनर्जी को मुसलमान बताते हुए मैसेज में कहा गया है कि वो रोज नमाज पढ़ती हैं।

इस मैसेज को लेकर सोशल मीडिया में खूब राजनीति भी  हो रही है। वायरल मैसेज को लेकर ममता बनर्जी की जमकर खिंचाई भी की जा रही है। दरअसल, नोटबंदी और चिटफंड घोटाले में टीएमसी के सांसदों की गिरफ्तारी के बाद से ममता बनर्जी बीजेपी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर लगातार हमला कर रही हैं। जबकि उनके इन हमलों को देश का एक बड़ा वर्ग उनकी फ्रस्‍ट्रेशन करार दे रहा है।

Advertisements