आर्मी चीफ बोले -जवानों ने सोशल मीडिया के जरिए शिकायत की तो मिलेगी सजा

New Delhi: आर्मी चीफ बिपिन रावत ने कहा है कि अगर जवान शिकायत करना चाहते हैं तो सही प्लेटफॉर्म पर रखें। मुझसे सीधे भी बात कर सकते हैं। जिस तरह वीडियो पोस्ट किया है, उससे तो उन्हें सजा भी मिल सकती है। उन्होंने ये भी कहा कि बॉर्डर पर शांति बहाली को हमारी कमजोरी नहीं समझा जाए। रावत ने ये बात रविवार को आर्मी डे के मौके पर कही। रावत ने कहा कि जवानों को उनकी अचीवमेंट्स के लिए बधाई देता हूं। हमें आने वाली चुनौतियों के लिए विचार करने की जरूरत है।

जम्मू-कश्मीर में बीते साल हालात नाजुक हो गए थे। लेकिन हम उन्हें सुधारने में कामयाब रहे। किसी भी उत्तेजित करने वाली कार्रवाई पर जवाब देने में नहीं हिचकिचाएंगे। सीजफायर वॉयलेशन का जवाब दिया जाएगा। हमें हमेशा तैयार रहना होगा। चीन के साथ लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल पर सुधार आया है। यकीन है कि हमारे प्रतिद्वंद्वी ताकत को पहचानते हैं। हमारी सीमा पर शांति बहाली की प्रक्रिया को कमजोरी की नजर से नहीं देखा जाए। रावत ने जवानों को गैलंटरी अवॉर्ड भी दिए।
जवानों के वीडियो पर क्या बोले रावत?
army-chief-general-bipin-rawat-pti_650x400_61484469881

रावत ने कहा कि कुछ साथी अपनी समस्या को रखने के लिए सोशल मीडिया का सहारा ले रहे हैं। इसका असर सीमा पर तैनात बहादुर जवानों पर पड़ता है। अगर जवान कोई शिकायत करना चाहते हैं तो सही प्लेटफॉर्म पर रखें। अगर वे कार्यवाही से संतुष्ट नहीं होते तो मुझसे भी बात कर सकते हैं। जिस तरह कुछ साथियों ने वीडियो पोस्ट किया, उसके लिए उन्हें सजा भी मिल सकती है। बता दें हाल ही में बीएसएफ के जवान तेज बहादुर यादव, सीआईएसएफ के जीत सिंह और आर्मी के जवान यज्ञप्रताप सिंह का वीडियो सामने आया था।
 .
Advertisements