अमेरिकी रिपोर्ट का दावा, ‘हिंदुत्व’ की नीतियों पर चल रही मोदी सरकार

वाशिंगटन: देश में मोदी सरकार बने ढाई साल हो चुके है. एक अमेरिकी एजेंसी ने मोदी सरकार की इस अवधि का अवलोकन कर एक रिपोर्ट तैयार की है. इस रिपोर्ट में दावा किया गया है की मोदी सरकार ‘हिंदुत्व’ की एजेंडे पर चलते हुए अपनी नीतिया बना रही है. जिसकी वजह से हिन्दू राष्ट्रवादियो और अल्पसंख्याओ के बीच तनाव बढ़ रहा है.

अमेरिका की युएस नेशनल इंटेलिजेंस काउंसिल द्वारा तैयार की गयी रिपोर्ट में कहा गया की हिंदुस्तान में नरेन्द्र मोदी सरकार हिंदुत्व के एजेंडे को लेकर आगे बढ़ रही है. इसलिए विश्व उनकी तरफ यह भी देख रहा है की वो इस एजेंडे के साथ हिन्दू राष्ट्रवादियो के साथ कैसे निपटेंगे. देश की सबसे बड़ी पार्टी भाजपा , सरकार की नीतियों में हिंदुत्व के एजेंडे को जबरदस्ती घुसा रही है जिससे देश में अंदरूनी तनाव बढ़ रहा है.

modi-nepal3

रिपोर्ट में कहा गया की अगले पांच साल में भारत की इकॉनमी काफी तेजी से बढ़ेगी लेकिन यह तभी संभव हो पायेगा जब चीन की इकॉनमी की गति धीमी रहे. इसके अलावा गैर बराबरी और धार्मिक तनाव जैसे अंदरूनी मसले भी इसमें रोड़ा बन सकते है. सरकारी की हिंदुत्व नीतियों की वजह से देश के अन्दर मुस्लिम अल्पसंख्यको में तनाव बढ़ रहा और भारत के पडोसी देशो पाकिस्तान और बांग्लादेश के साथ भी तनाव अपने चरम पर है.

युएस नेशनल इंटेलिजेंस काउंसिल हर देश के शासन की चार साल की नीतियों की समीक्षा कर एक रिपोर्ट तैयार करती है. इस रिपोर्ट के आधार पर उन ट्रेंड्स की पहचान की जाती है जो अगले 20 साल में दुनिया पर असल डाल सकते है. इस रिपोर्ट में कहा गया है की यह देखना दिलचस्प होगा की भारत हिंसक हिन्दू राष्ट्रवाद से , इजराइल धार्मिक कट्टरता से कैसे निपटता है.

रिपोर्ट में यह भी कहा गया की आने वाले समय में आतंकवाद की समस्या और उग्र हो सकती है. इसमें भारत का हिंसक हिन्दू राष्ट्रवाद, अफ्रीका का उग्र इसाई और इस्लाम और म्यांमार का उग्र बोद्ध आग में घी का काम करेगा.

Advertisements