केजरीवाल के पास पंजाब,गोवा चुनाव लड़ने के लिए पैसे नहीं तो UP में भाजपा विरोध किसके पैसे से ?

केजरीवाल के पास पंजाब,गोवा चुनाव लड़ने के लिए पैसे नहीं तो UP में भाजपा विरोध किसके पैसे से ? नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बीते रविवार को कहा कि उनकी ईमानदार पार्टी के पास आगामी पंजाब और गोवा के विधानसभा चुनाव लड़ने के लिए रुपये नहीं हैं। मपुसा शहर में एक जनसभा को संबोधित करते हुए केजरीवाल ने कहा, ‘हमारे पास पंजाब और गोवा के चुनाव लड़ने के लिए एक पैसा भी नहीं है। हमारे बैंक खाते खाली हैं।’

केजरीवाल के पास पंजाब,गोवा चुनाव लड़ने के लिए पैसे नहीं तो UP में भाजपा विरोध किसके पैसे से ?

केजरीवाल के पास पंजाब,गोवा चुनाव लड़ने के लिए पैसे नहीं तो UP में भाजपा विरोध किसके पैसे से ?

 

पैसे नहीं है लेकिन यूपी में करेंगे बीजेपी के खिलाफ प्रचार 
वही दूसरी तरफ केजरीवाल उत्तर प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव में बीजेपी के खिलाफ सक्रियता से प्रचार करेंगे। हालांकि आम आदमी पार्टी चुनावी मुकाबले में नहीं उतरेगी। इसमें भी एक पेच यह है कि ज्यादातर रैलियां और सभाएं उन जगहों के लिए प्लान की गई हैं, जहां पर कांग्रेस को फायदा पहुंचने के आसार हैं।
यूपी में केजरीवाल की रणनीति
पंजाब और गोवा में 4 फरवरी को वोटिंग होनी है, इसके बाद आम आदमी पार्टी के तमाम नेता फ्री होंगे। यूपी में मतदान का काम 11 फरवरी से शुरू होना है। इसके बाद केजरीवाल समेत सभी बड़े नेता यूपी के चुनाव में जुट जाएंगे। यहां पर वो कहने को तो बीजेपी विरोधी रैली करेंगे, लेकिन कोशिश कांग्रेस को फायदा पहुंचाने की होगी। इसके लिए खास तौर पर मुद्दों की भी पहचान की गई है। यूपी में कानून-व्यवस्था का मुद्दा सबसे अहम माना जाता है, लेकिन आम आदमी पार्टी का फोकस नोटबंदी पर रहेगा।
ऐसे में सोशल पर सवाल उठने लगे है कि जब केजरीवाल के पास चुनाव लड़ने के पैसे नहीं है तो यूपी बीजेपी के खिलाफ प्रचार करने के पैसे कहाँ से आ गए? आपको बता दे कि केजरीवाल राजनीति में आने के बाद से लगातार मोदी और बीजेपी विरोधी रहे है।

केजरीवाल के पास पंजाब,गोवा चुनाव लड़ने के लिए पैसे नहीं तो UP में भाजपा विरोध किसके पैसे से ?

Advertisements