अखिलेश के यूपी में जारी है सांप्रदायिक दंगे, मीडिया ने दबाई खबर

उत्तर प्रदेश में मुखयमंत्री अखिलेश यादव के शासन में संप्रदायिक दंगा जारी है। मुजफ्फरनगर, दादरी, कैराना, शामली, बरेली के बाद अब देवरिया जिले के मदनपुर में एक संप्रदाय के लोगों ने दूसरे संप्रदाय के घरों-दुकानों में तोड़फोड़ तो की ही, पुलिस थाने को भी आग के हवाले कर दिया। लेकिन अखिलेश के विज्ञापन से बिक चुकी मीडिया ने इस खबर को दबा दी।

घर से शौच के लिए निकले एक युवक की लाश केवटलिया गांव के पास राप्ती नदी में मिलने की खबर के बाद इलाके के लोगों ने देवरिया के मदनपुर थाने और कई गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया। असलहे लूट लिए। पुलिस और अफसरों की बेरहम पिटाई की। आरोप है कि दंगाइयों ने थाने के पास एक संप्रदाय के दुकानों में भी जमकर लूटपाट की और आग लगा दी। यहां दंगाइयों ने जमकर उत्पात मचाया। मदनपुर थाने पर हमला कर सारे रिकॉर्ड जला डाले। देवरिया के एसपी इमरान पर सख्ती से कार्रवाई ना करने का आरोप है।

खबर है कि दंगाइयों ने पत्रकारों को खुलेआम धमकी दी कि अगर उन्होंने तस्वीरें कैद की, तो खैर नहीं होगी। एक तरह से आतंक का साम्राज्य स्थापित करने की पूरी कोशिश की गई। प्रशासन के साथ मीडिया के लोग जहां इसे दबाने में लगे थे वही सोशल मीडिया के लोग इस सच्चाई को लोगों के सामने लाने मे सफल रहे।

 

Advertisements